Our bloge

तुम वो हो जो तुम सोचते हो।

पढ़े लिखे लोग भी इस समय वही आदमख़ोर शेर जगाने में लगे पड़े हैं,

3 बुद्धिमानों और 1 मूर्ख की कहानी पंचतंत्र में थी, जिसमें 1 बुद्धिमान अपनी बुद्धि के बल पर शेर का कंकाल खड़ा करता था, एक…

कोई विदेशी राष्ट्राध्यक्ष भारत आएगा तो यहां 22 किलोमीटर का रोडशो क्यों करेगा?

कोई विदेशी राष्ट्राध्यक्ष भारत आएगा तो यहां 22 किलोमीटर का रोडशो क्यों करेगा? क्या वह यहां चुनाव लड़ रहा है? क्या किसी विदेशी नेता को…

Roshan Bagh CAA Protets

हिन्दू बहनों के लिए रोशन बाग से मुस्लिम बहनों का एक पत्र

प्यारी बहन, मैं वही आफरीन हूँ जो कल क्लास में तुम्हारे बगल में बैठी थी। मैं वही ज़ैनब हूँ जिसके साथ कल ही तुमने पानी-पूरी…

शाहीन बागों ने भारतीय स्त्रीत्व की नई क्रांतिकारी अवधारणा रची है.

दिल्ली की जनता को डराने के लिए, प्रवेश वर्मा ने कहा था कि "शाहीन बाग के लोग घरों में घुस कर दिल्ली की बहन बेटियों…

राष्ट्रवाद को मुंशी प्रेमचंद ने ‘कोढ़’ क्यों कहा था?

राष्ट्रवाद को मुंशी प्रेमचंद ने 'कोढ़' क्यों कहा था? मुंशी प्रेमचंद ने 1933 में लिखा था, ‘राष्ट्रीयता वर्तमान युग का कोढ़ है, उसी तरह जैसे…